August 2, 2021

राजस्थानी भजन

Share this... Facebook Twitter गुरु मारा पारस पवन सु ही झिणा,शायर वाली दाता लहरा करे,हंसला री गुरु...
Share this... Facebook Twitter हुई सफल कमाई,महाराज भरथरी थारी,मालिक रे कारण,जोग फकीरी थारी, हुई सफल कमाई महाराज……....
Share this... Facebook Twitter प्रीत गुरा री भली रे रावलिया रे जोगी,अलबेला रे जोगी,मस्ताना रे जोगी प्रीत...
Share this... Facebook Twitter कालो गणों रुपालो रे,गढ़बोरिया वालो रे,श्री चारभुजा रो नाथ,चतुर्भुज भाला वालो रे, शीश...
Share this... Facebook Twitter एक आसरो देव धणी रो,दूजो माँ कंकाली को,जग जननी चित्तोड़ बिराजे,नाम जपु कंकाली...
Share this... Facebook Twitter थारी काया रो गुलाबी रंग उड़ जासी,उड़ जासी रे फीको पड़ जासी, हरा-हरा...
Share this... Facebook Twitter बड़ो बलकारी बाबो,रण रो खिलाड़ी जी,वा वा रे बजरंगी रे बाला,बड़ो बलकारी रे,वा...
Share this... Facebook Twitter मानव किसका अभिमान करे,दिन चढ़ते उतरते आते है,किस्मत जो साथ नहीं देती,पत्थर भी...
कृपया कॉपी न करे नहीं तो आप के खिलाफ कारवाई की जायेगी। धन्यवाद